चिकित्सकीय गर्भपात के बारे में

Responsive image

अनेक देशों में गर्भपात की उपलब्धता और गर्भनिरोधक गोलियों के इस्तेमाल से संबंधित अनेक नियम हैं । ऐसे देशों में जहाँ गर्भपात कराना वैध है, अधिकांश डॉक्टर गर्भधारण के पहले 10 सप्ताह में मिफेप्रिस्टोन तथा मिसोप्रोस्टोल का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं, लेकिन पहले 10 हफ्तों में स्वयं मिसोप्रोस्टोल भी अत्यधिक प्रभावी है। इसके लक्षण स्वाभाविक गर्भपात से बहुत मिलते जुलते हैं और गोलियों के साथ एक गर्भपात के लक्षण स्वाभाविक गर्भपात से बहुत मिलते जुलते हैं, और गोलियों के साथ गर्भपात महिलाओं के लिए निजी तौर पर उपयोग करने के लिए सुरक्षित है।

चिकित्सय गर्भपात में इस्तेमाल की गई दवाई आराम देते हुए और गर्भाशय ग्रीवा (गर्भाशय को खोलने) को खोलने का काम करती है, और गर्भाशय को संकुचित करके गर्भावस्था को समाप्त करता है।

मिसोप्रोस्टल से, आमतौर पर, पहली बार की गोलियों के आपके शरीर में अवशोषित होने के 1 से 2 घण्टे के भीतर, आपको मरोड़ और रक्तस्राव शुरु हो जाएगा । सामान्य रूप से मिसोप्रोस्टल की अंतिम गोलियाँ लेने के 24 घण्टों के भीतर गर्भपात होता है । अक्सर, इससे पहले भी गर्भपात हो जाया करता है ।

Responsive image
Responsive image

यदि आप सतर्क हैं, तो आप यह बता सकती हैं कि आपने कब गर्भावस्था के ऊतकों को पारित किया है। यह छोटे काले रंग का अंगूर और पतली झिल्ली की तरह लग सकता है, या एक छोटी सी थैली एक सफेद, रोएँदार परत से घिरी हुई। गर्भावस्था की उम्र पर निर्भर करता है, यह ऊतक आपके नाखून से भी छोटा है, या आपके अंगूठे के आकार का हो सकता है। अगर आप इन ऊतकों की पहचान कर सकें, यह एक संकेत है कि गर्भपात सफल हुआ है। अक्सर, गर्भावस्था ऊतक रक्त के थक्के में लिपटे हो सकते हैं। आप यह नहीं देख सकती हैं, जब तक आप बहुत ध्यान से देखें।